ब्रह्मांड का लघु रूप:———–

मानव शरीर एक शिव मंदिर है भगवान शिव अर्धनारीश्वर हैं इसमें आधा भाग नर और आधा भाग नारी के रूप में ही समाहित है वेदों में नर हो या नारी पुरुष ही कहा जाता है.. और रुद्र को परम पुरुष कहा गया है इसका अधिठाता जीवात्मा इस शरीर रूपी पूरी में बसता है.. अतः वह […]

Continue Reading

गणेश चतुर्थी को बनाएं-गिलोय युक्त गुड़ के मोदक/लड्डू…

35 तरह के रोगों का विनाशकारी मोदक।  सँक्रमण रोगों को मिटाने वाला आयुर्वेदिक गुडुची मोदक (लड्डू) जिसे खुद भी खाएं औऱ गणपति जी को भी अर्पित करें। बेहतरीन इम्युनिटी बूस्टर होते हैं– गुड़-मेवा के लड्डू उत्सव के समय घर-घर में बहुत ही उत्साह के साथ एवं उत्तर भारत में गुड़-मेवा के लड्डू ज्यादा प्रचलित हैं। ये लड्डू जन्माष्टमी के […]

Continue Reading
error: Content is protected !!