हिरण्यकश्यप थे- स्वर्ण के आविष्कारक

हिरण्यकश्यप और स्वर्ण के बारे में ऐसी जानकारी अमृतमपत्रिका पर पहली बार पढ़ेंगे— हिरण्यकश्यप परम शिव उपासक हिरण्ययक्ष के भाई महर्षि कश्यप की संतान थे। श्रीमद्भागवत के अनुसार यह पूर्व जन्म में विष्णुजी के द्वारपाल जय और विजय थे। ये दोनों स्वर्ण वैज्ञानिक होने के कारण पृथ्वीलोक में स्वर्ण की खोज इन्होनें ही की थी। हिरण्य का अर्थ स्वर्ण यानि […]

Continue Reading
error: Content is protected !!