हताश मत हो………….

हताश मत हो हताश निराश होते ही हमारे ऊर्जा क्षमता का सत्यानाश हो जाता है! असफलता का मुख्य कारण ही हताशा है…. हमारे शरीर पांच कर्म इंद्रियों एवं पांच ज्ञानेंद्रियों पंच तत्व एवं आत्मा और जीव अर्थात 17 शक्तियों का तालमेल है! 17 ताश के पत्तों की तरह है ब्लाइंड पत्तों को खोलते ही जीतने […]

Continue Reading
error: Content is protected !!