ज्योतिष शास्त्र एक परम विज्ञान है।……

Spread the love

इस विज्ञान का लाभ पाने हेतु मेने अनेको प्रयोग स्वयं किये और दूसरों से भी कराए ।

इसके चमत्कारी परिणाम प्राप्त हुए । सफलता के दुर्लभ प्रयोग हमेशा विश्वासपात्र लोगो को ही बताना चाहिए स्वार्थी एवं मोके का फायदा उठाने वालों से इन्हें छुपाए रहे

यदि सूर्य अशुभ हो तो :- बंदरो को गुड़ खिलाए । घर से निकलते समय मिश्री मुह में डालकर निकले । सप्त अनाज चीटियों को डाले ।

चंद्र अशुभ होने पर :- लाल रंग के पत्थर में गड्ढा भर कर मिट्टी में गढ़ना चाहिए ।

घर मे कुआ, हेण्डपम्प न लगावे । रात को नींद न आने पर अपने पलंग के चारो पायो पर तांबे की कील गाढ़ देवे ।

मंगल अशुभ हो तो :- कम उम्र की लड़कियो को 27 मंगलवार लगातार भोजन कराकर दक्षिणा देकर चरण छूकर आशीर्वाद लेवे ।

अपने बच्चो के जन्मदिन पर केवल नमकीन चीजे खानी और खिलानी चाहिए। बहुत ज्यादा मंगल अशुभ हो तो हाथी के दांत से बना ★ स्टार या आदि वस्तुए धारण करनी चाहिए ।

12 दिनों तक गुड़ खाए । नहाने के बाद गुड़ पानी मे बहाये आग लगती रहती हो तो ।

खांड को बोरी में भरकर छत के अग्नि कोण पर रखे । शमशान में जब भी जाये गुड़ छोड़कर आवे ।

बुध अशुद्ध हो तो :- यदि व्यापारि किसी विशेष कार्य से जा रहे हो तो साथ मे सफेद फूल रखना चमत्कारी परिणाम देगा ।

कभी तोता न पाले धन दौलत में हानि हो तो पीतल के बर्तन में गंगाजल रखने से अच्छे परिणाम मिले ।

नाक में छेद कराकर चांदी का छल्ला डाले अथवा गरीब एवं छोटी पढ़ी लिखी बच्चियों को नाक में डालने हेतु चांदी का छल्ला दान करे । हिजड़ो को हरे रंग की साड़ी , चुडिया दान करे ।

बर्बर शेर को प्रत्येक बुधवार मास खिलाए ।

शनि अशुभ होने पर :- सरसों के तेल को लोहे के बर्तन में भरकर शनिवार के दिन किसी तालाब या नदी के किनारे जमीन में दबाए । बहते पानी मे बादाम और नारियल बहा देवे ।

शुक्र अशुभ हो तो :- यदि शुक्र अशुभ होता है तो दाये या बाये हाथ का आंगुठा बिना किसी कारण दर्द होने लगता है। इसके लिए पोषक साफ सुथरी छेद जली फ़टी रहित पहिने ।

घर से निकलते समय चीनी खाकर पानी पीकर निकले / यदि पत्नी का स्वास्थ्य खराब रहता हो तो ।

सफेद पत्थर पर सफेद चंदन घिसकर किसी नदी तालाब किनारे बने शिवलिंग पर त्रिंकण्ड लगाकर इन्हें पानी से इतना स्नान कराएं की चन्दन बहकर तालाब में बह जाए ।

इस विज्ञान का लाभ पाने हेतु मेने अनेको प्रयोग स्वयं किये और दूसरों से भी कराए ।

इसके चमत्कारी परिणाम प्राप्त हुए ।

पूरे शरीर मे चन्दन इत्र मलकर स्वम् भी स्नान करे ।

संभब हो तो पत्नी भी स्नान करे
हर शुक्रवार और प्रत्येक शुक्र के नक्षत्र में 108 दीपक राहु की तेल में जलावे ।

गुरु अशुभ होने पर:- किसी शिव मंदिर के पुजारी को कपड़े दान करें आज गुरुवार कच्चे सूत से हल्दीराम कर किसी

शिव मंदिर के पास वाली पीपल वृक्ष पर तीन बार लपेट आवे गुरुवार को केसर के चंदन से शिवलिंग का त्रिपुंड लगावे । गरीब बच्ची की शादी में सोना धान करे ।

राहु के अशुभ होने पर – राहु की महादशा व्यक्ति को रोग बीमारी से ग्रस्त कर देती है व्यक्ति मृत्यु की तुलना जीवन जीने को मजबूर हो जाता है

यदि स्थिति संभालने योग्य ना हो तो अपने वजन की जो पानी में बहा देना चाहिए चांदी के बर्तन में गंगाजल भरकर रखें अथवा नाग सहित स्वर्ण या चांदी के

शिवलिंग पर निरंतर गंगा जल की धारा गिरती रहे गंगाजल में 10 भाग चंदन इत्र मिलाना विशेष लाभप्रद होता है

चांदी की डिब्बी में गंगाजल भरकर एवं चांदी का चौकोर टुकड़ा भी सदैव साथ रखना चाहिए राहु या तो बर्बाद करता है

या आवाद यहां पिछले को कर्मों का हिसाब किताब करने वाला सृष्टि का एकमात्र कठोर प्रशासनिक अधिकारी है राहु प्रेत बाधा पित्दोष कालसर्प का कारक है

इसके लिए मां सरस्वती की मूर्ति के आगे प्रतिदिन नीलापुष्प चढ़ाना आवश्यक है यदि राहु से पीड़ित जातक काला चश्मा पहने तो अच्छे परिणाम मिलते हैं

इसके अलावा पत्रिका देखकर परिवर्तन करना आवश्यक है क्योंकि सभी ग्रहों के अंश असर देख कर चिकित्सा करने चाहिए राहु को प्रसन्न करने हेतु अनेक और भी उपाय हैं

पिंड खजूर चढ़ाएं खजूर वृक्ष की पूजा खजूर की झाड़ू

केतु अशुभ होने पर – अपनी बहन बेटी बुआ मौसी से झगड़ा ना करें कान में सोने का कुंडल डालें दोरंगा कंबल दान करें केतु लग्न में हो तो लोहे की गोली पर लाल रंग चढ़ा कर अपने पास रखना शुभ होता है

ससुराल से पलंग दान में अवश्य लेवे शेषनाग की पूजा करें रुद्र अभिषेक कराएं।

जब भी कोई दुश्मन पड़ोसी परेशान करें तो शनिवार की रात में भोजपत्र पर काली खड़ी उड़द रखकर अपने पास रखें ज्यादा परेशानी के समय इसका उपयोग करें
कष्ट दूर भगाने काले कपड़े में गांजा तंबाकू सिगरेट बीड़ी कपूर आदि रखकर श्मशान में जलावे समय वार तिथि कुंडली अनुसार रखें

चंद्रमा – चांदी का कड़ा हाथ में डालें चांदी के बर्तन चमका कर रखें सोते समय चांदी की एक प्लेट सिर के ऊपर दीवाल पर लगावे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *