आयुर्वेद के मुताबिक शरीर में दर्द क्यों होता है? अमृतम

Spread the love

  • शरीर में दर्द होने की मूल वजह है रक्त संचार का अवरुद्ध होना। जब कोई अपनी दिनचर्या को आलस्य, सुस्ती युक्त बना लेता है और परिश्रम करना कम या बंद कर देता है, तो शरीर में अनेक तरह के दर्द उठना आरम्भ हो जाते हैं, जिन्हें आयुर्वेद में वात रोग कहते हैं। ये ८८ प्रकार के होते हैं।
  • थायराइड यानी ग्रन्थिशोथ को भी वात विकार की श्रेणी में रखा गया है।
  • लकवा, अस्थि अस्थिरता, पैरालाइसिस, जोड़ों में दर्द, कमर दर्द, सूजन, जोड़ चिकनाहट रहित होना, चलने फिरने में दिक्कत आदि ये सब ऑर्थराइटिस की समस्या के अन्तर्गत आते हैं।
  • शरीर के समस्त दर्द और वात व्याधि की स्थायी चिकित्सा केवल आयुर्वेद चिकित्सा द्वारा ही सम्भव है।
  • Orthokey के सेवन से आपका ये भ्रम मिट जाएगा कि अधिक उम्र के व्यक्ति जोड़ों की बीमारियों और ऑस्टियोकांड्रोसिस से नहीं बच सकते?
  • Orthokey जड़, कठोर नाड़ियों को मुलायम बनाकर शरीर में रक्त संचार यानि ब्लड सर्कुलेशन
  • को सुचारु करता है। जिससे शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द की तकलीफ मिटने लगती है।
  • व्हीलचेयर पर जीवन काट रहे असहाय रोगियों के लिए Orthokey वरदान है।
  • Orthokey Gold malt के साथ Orthokey Gold Capsule रक्त के प्रवाह के लिए यह बहुत ही उपयोगी होता है।
  • यह इलाज ऐसे ही काम करता है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण चीज यह है कि इसका उपयोग दूध के साथ तीन माह किया जाना चाहिए।
  • दिमाग में फालतू का फितूल न पालें। हर दर्द की दवा है आयुर्वेद में! जाने केसे काम करती हैं
  • Orthokey में 28 से अधिक सक्रिय घटक के साथ साथ रस भस्म आदि अवयवों का मिश्रण है और इसमें आंवला मुरब्बा, हरड़ मुरब्बा कब्ज मिटाकर पेट को साफ करने में कारगर है।
  • आर्थो की में मिली जड़ी बूटियां शरीर की पुरानी कमजोर हो चुकी नाड़ी तंत्र को अपने संपर्क में आते ही ठीक कर देता है जिससे वह 10 गुना ज्यादा तेज काम करने लगती हैं। यही कारण है कि कोशिकाएं धीरे-धीरे अपनी ताकत वापस पा लेती हैं।
  • Orthokey pain oil दर्द वाले या शरीर की प्रभावित जगह पर मलते या लगाते ही 74000 से भी अधिक कोशिकाएँ सक्रिय हो जाती हैं।
  • वात बीमारियों से ग्रस्त लोगों के लिए वरदान
  • Orthokey बास्केट आयुर्वेद की मॉर्डन साइंस के अनुरूप निर्मित उत्पाद है। क्यों कि अब पुराने जमाने की घर में कूटने, पीसने वाली देशी दवाओं को अलविदा कहने का समय आ गया है।
  • अब अमृतम की बनी हुई तैयार ओषधि द्वारा वातरोग से परेशान इंसान अपनी बीमारी को घर में ही 1-2 महीने में ठीक कर सकते हैं।
  • ऑर्थोके पैन ऑयल सिर्फ एक एनाल्जेसिक नहीं है, यह शरीर को कोशिकीय स्तर पर ले जाकर “रीट्रीट
  • कर, दर्द की जड़ को खत्म कर देता है और जोड़ो तथा रीड की हड्डी को अपनी मूल यानि ओरिजिनल अवस्था में वापस ले जाता है।
  • ऑर्थोकी बास्केट के इस्तेमाल से आपको सिर्फ लक्षणों से ही राहत नहीं मिलती, इससे बीमारी की जड़ खत्म हो जाती है।
  • आर्थो की कहाँ से खरीदा जा सकता है।
  • केवल ऑफिशियल वेबसाइट Amrutam पर ही मिलता है।
  • लोग जोड़ों और पीठ के दर्द के इलाज हेतु मेडिकल स्टोर्स से कोई भी दर्दनाशक गोली, तेल या दूसरे प्रोडक्ट खरीद कर परेशान हो जाते हैं। उन्हे स्थाई फायदा कभी नहीं मिलता। क्योंकि सच्चाई तो यही है कि ये सिर्फ लक्षणों में आराम देते हैं और रोगों को जड़ से खत्म नहीं करते।
  • Orthokey एलोपैथी से काफी बेहतर और किफ़ायती इलाज है।
  • सुनी सुनाई ऐसी बातों पर कतई विश्वास न करें, जो कहते हैं कि बुढ़ापे में दर्द, ऐठन, जोड़ों की बीमारियों का इलाज नहीं किया जा सकता।
  • पूरे जीवन काल में घनघोर बुढ़ापे में भी पीठ दर्द या जोड़ों का दर्द नहीं होगा।
  • ओर्थौकी गोल्ड माल्ट
  • आर्थो की गोल्ड कैप्सूल
  • आर्थो की पैन ऑयल
  • सभी समस्यायों का शर्तिया इलाज है।
  • बस तीन महीने इस्तेमाल करें और पाएं
  • चमत्कारी परिणाम।
  • आर्थोकी बास्केट ८८ तरह के वात विकारों की सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा है। कमर, जोड़ों या पीठ का दर्द हो या थायराइड। आप बेफिक्र होकर तीन महीने लीजिए। इससे 88 फीसदी ग्राहक के दर्द ठीक हो गए
  • दर्द से तत्काल राहत सिर्फ 20 दिनों में मिलेगी। 100% सेटिस्फेक्शन गारंटी के साथ इंतजार मत करिये।
  • Amrutam से साभार

Leave a Reply

Your email address will not be published.