विवाह के कुछ वर्षो पश्चात सेक्स लाइफ बोरिंग क्यों हो जाती हैं?

विवाह के कुछ वर्षो पश्चात सेक्स लाइफ बोरिंग क्यों हो जाती हैं?

!!हर शब्द अमॄतम!! उम्र के हिसाब से सेक्स की इच्छाएं कम होती चली जाती हैं- शुरू-शुरू में शादी के कुछ दी बाद तक सेक्स के प्रति बहुत लगाव और उत्तेजना रहती है। यह चरमसुख एक उम्र तक बढ़ता ही जाता है। पार्टनर को भी आनंद की अनुभूति होती है। जैसे-जैसे हमारे अंदर शिथिलता आने लगती […]

Continue Reading
भविष्य वक्ता-बाबा तुलसीदास की भविष्य वाणी

भविष्य वक्ता-बाबा तुलसीदास की भविष्य वाणी

रामचरितमानस के लुप्त और दुर्लभ  दोहे, जिसे ज्यादातर बताया नहीं जाता। सन्त श्री तुलसीदास के अनुसार इस कलियुग में ज्ञानी, वक्ता, उपदेशक, कथावाचक और  नेता…  कैसे तथा कौन होंगे? वर्तमान स्थिति को पूर्व में भांपते हुए गोस्वामी तुलसी दास कई वर्ष पूर्व लिख गए थे। आप खुद आंकलन करें यह दोहे कितने सटीक हैं……. 【१】दोहा – कलिमल ग्रसे धर्म सब  […]

Continue Reading

माला से पाएं शिवाला! क्यों होते हैं-माला में 108 मनके

क्यों होते हैं जपमाला में 108 मनके — माला में १०८ मनके होते हैं। जब भी किसी मंत्र का जाप किया जाता है तो वो 108 बार ही क्यों किया जाता है। आइए जानते हैं इसके बारे में…. योगचूड़ामणि उपनिषद में कहा गया है- पद्शतानि दिवारात्रि  सहस्त्राण्येकं विंशति। एतत् संख्यान्तिंत मंत्र  जीवो जपति सर्वदा।। आयुर्वेद शरीर विज्ञान के […]

Continue Reading
Rahu ke Dushprabhav

रास्ते से भटका देता है-राहु

राहु के दुष्प्रभाव- पार्ट-2 पढ़ें चोरी, जुआ, नशा, बदनामी, गरीबी, धन व सुख की कमी, आर्थिक तंगी, मुकदमेंबाजी, असाध्य, कारागृह, रोग भय, पेट दर्द, पेट के रोग, अविवाहित जीवन, विवाह न होना, औलाद न होना, एकांकी जीवन, मानसिक अशान्ति, वाद-विवाद, झगड़ा, छोटी सोच, चुगलखोरी, आलस्य, नकारात्मक सोच, काम (sex) के प्रति अरूचि, बार-बार रोगों से […]

Continue Reading

रहस्योपनिषद में लिखे हैं राहु के रोचक रहस्य

राहु के मंदिरों की दुर्लभ जानकारी जाने-पहली बार अमृतम राहुकी तेल के 54 दिन दीपक जलाकर पाएं भयानक कष्टों से मुक्ति और अपना जीवन सुधार कर सभी सपने पूरे कर सकते हो- राहु के रहस्य-पार्ट-1/भाग-एक कष्टदायक कालसर्प से मुक्ति पाएं! यदि आप कठिन से कठिन परिस्थितियों से गुजर रहे हैं, तो एक बार शिव की […]

Continue Reading

ठण्ड के दिनों में अपनी त्वचा का पोषण करें- आयुर्वेदिक पोषक तत्वों से निर्मित…अमृतम अष्टगन्ध से

मखमली, मुलायम एहसास- हर सांस में, देगा “अमृतम अष्टगन्ध” अब सर्दियों के लिए हर्बल कोल्ड क्रीम एक बार इस्तेमाल अवश्य करें। जिसे आठ जड़ीबूटियों से आपके ठाठ-बाट के लिए बहुत पूजा-पाठ  के बाद बनाया है। यह बरक्कत देगा आपकी त्वचा के रोम-रोम को! जी हाँ…. अष्टगन्ध बॉडी लोशन शुद्ध आयुर्वेदिक कोल्ड क्रीम है, जो पूरी तरह मॉइश्चराइज्ड है। स्किन को चमकदार […]

Continue Reading

सर्दियों के लिए 100% शुद्ध आयुर्वेदिक कोल्ड क्रीम, त्वचा का रूखा-सूखापन मिटायें

त्वचा को निखारने, सुन्दर और तन को चमकदार बनाने में कारगर आयुर्वेद के बहुमूल्य अमृतम हर्ब्स “अष्टगन्ध” से निर्मित ठण्ड के मौसम में विशेष उपयोगी… !! अमृतम !! हर्बल अष्टगन्ध कोल्ड क्रीम (केशर, चन्दन, एलोवेरा , तुलसी, चिरौंजी आदि से निर्मित एक नेचुरल हर्बल उत्पाद, जो ठण्ड में कोल्ड क्रीम की पूर्ति कर खूबसूरती बढ़ाता है। ‘एक खुशबूदार आयुर्वेदिक बॉडी लोशन‘ प्राकृतिक रूप […]

Continue Reading

भारत भाग्य विधाता अर्थात भारत का भाग्य अब विधाता के हाथ में है

भारत भाग्य विधाता अर्थात भारत का भाग्य अब विधाता के हाथ में है कृपया ध्यान दे!  क्यों है…. प्रदूषण मिटाना सरकार के लिए खतरा  प्रदूषण के मिटते ही मीडिया मशीनरी के मुद्दे और ‘नेताओं की राजनीति’ खत्म हो सकती है। सरकारी नियम है कि- समस्या खड़ी हो, तो जांच आयोग बिठा दो और कोई भी कदम इतना ठोस उठाओ कि वजन के कारण उठ ही नहीं पाए। अमावस्या को शुरू […]

Continue Reading

जानें – अमृतम “कुमकुमादि तेल के औषधीय गुण, फायदे और दुष्प्रभाव

हजारों साल पुरानी मुख मंडल चिकित्सा कुम-कुमादि के 32  अजूबे जानकर हैरान रह जाएंगे… आप कुमकुमादि तैलम को आयुर्वेद ग्रन्थों में “केसर ऑयल”  के नाम से जाना जाता है।  यह ३२ तत्वों का एक अद्भुत मिश्रण है,  जो चेहरे की त्वचा को नर्म बना कर उस पर चमक लाता है। इसे आयुर्वेद का “रूप मन्त्रा” कहा गया है। रोम-रोम की […]

Continue Reading

सर्दियों में ज्यादा न धोएं बाल

सर्दी के सीजन में बाल रूखे और  हो जाते हैं –बेजान  ठण्ड के दिनों में ही बाल अधिक झड़ने-टूटने लगते हैं, तो बालों की मजबूती के लिए अपनाएं– अमृतम द्वारा 27 जड़ीबूटियों के काढ़े से निर्मित अमृतम कुन्तल केयर हर्बल हेयर स्पा यह शुद्ध आयुर्वेदिक है। बालों की जवानी हेतु रखें ये सावधानी और करें ये उपाय, तो बाल […]

Continue Reading
error: Content is protected !!