जब आप स्वस्थ्य रहेंगे तभी, तो उत्सव को उमंग-उत्साह से मना पाएंगे

यकृत यानि लिवर और पेट के रोगों की अचूक और अद्भुत ओषधि...
दशहरा पर दस टिप्स
आपके स्वास्थ्य के लिए…
 
जब आप स्वस्थ्य रहेंगे तभी उत्सव 
को उमंग-उत्साह से मना पाएंगे
अमृतम के 10 सूत्र आपको ताउम्र स्वस्थ्य रखने में सहायक सिद्ध होंगे…
 
【१】खाना धीरे-धीरे मंदी आंच पर पकाएं।
【२】भोजन बहुत ही आराम से धीरे-धीरे करें ऐसे खाएं, जैसे पी रहे हों।
【३】पानी बड़ी तसल्ली से ग्रहण करें। जैसे खा रहे हों।
【४】कोशिश करें कि भोजन मिट्टी के पात्र में  निर्मित हो।
【५】रात्रि में दही न लेवें
【६】रात को अरहर यानि तुअर की पीली दाल न खाएं। यदि खावें, तो डाल में देशी घी या मख्खन पर्याप्त मात्रा में मिलाएं और पानी बहुत पियें।
【७】दिन या रात में एक बार मूंग की दाल जरूर लेवें।
【८】दही में कभी नमक मिलाकर न खावें।
【९】सुबह उठते ही खाली पेट कम से कम आधा से 1 लीटर पानी जरूर पियें
【१०】बिना स्नान के बिस्कुट आदि अन्न ग्रहण न करें।
ये दस सूत्र आपको हमेशा स्वस्थ्य, मस्त,तन्दरुस्त और प्रसन्न रखेंगे
और भी बहुत कुछ अधिक जानने के
लिए सर्च करें
10 फीसदी रियासत यानि डिस्काउंट
पाने के लिए इस कूपन कोड का उपयोग करें।
AMRUTAMPATRIKASHIVA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अमृतम पत्रिका से जुड़ने के लिए अपना ईमेल  और व्हाट्सएप नंबर शेयर करे