अनेकों पाठकों ने लिखे अमृतम पत्रिका के अनुभव कि अमृतम ने हमारा जीवन बदल दिया!

Spread the love

 

जाने जीवन को को कैसे स्वस्थ्य, समृद्ध बना सकते हैं।

प्राचीन कुछ नियमों को अपनाकर आप अपना जीवन बदल सकते हो। स्वास्थ्य को दवा से नहीं दुआ से संभालो। हमारे शरीर की जानकारी हमें ज्यादा होती है अन्य किसी ओर को अथवा डॉक्टर को नहीं।
अमृतमपत्रिका, ग्वालियर अंक अप्रैल 2008 से साभार ये 23 काम की बातें जीवन बदल देंगी।
आयुर्वेद सहिंता का एक नियम है कि शरीर को जितना थाकएँगे, ये उतना ही आराम देगा और देह को जितना आराम दोगे। तन उतना ही रोग, आलस्य, विकार देगा। रात्रि में आप कितना ही बिलम्ब से सोवें लेकिन सुबह 5 बजे तक जागने की आदत बनाएं।
प्रातः उठते ही मुँह में पानी भरकर हाथ में लेवें ओर अपनी आंखों को धोएं। 2 से 3 ग्लास सादा पानी पीकर चाय पीना हो, तो पियें ओर नित्य क्रिया संपन्न करें ओर 3 से 4 किलोमीटर टहलने जाएं
प्रातःकालीन जरूरी काम निपटाकर स्नान करें और कम से कम 15 मिनिट ओर अधिकतम इच्छानुसार ध्यान, पूजा आदि करके हल्का नाश्ता करें।
कोशिश करें कि सुबह के नाश्ते में अन्न, गेहूं आदि न हो। मीठा दही सर्वश्रेष्ठ रहता है। फिर, अपने कार्य कारोबार हेतु निकल जाएं।
दुपहर 12 से 1 बजे के बीच दिन का भोजन भरपेट करें और रात्रि का भोजन शाम 7 बजे तक करने का प्रयास करें। रात के खाना जितना हल्का होगा, रोग उतने ही दूर रहेंगे।
एक दिन में 3 से 4 कप तक चास्य ले सकते हैं किंतु चाय पीने के 30 मिनिट पहले 500 ml जल अवश्य पियें, ताकि मूत्र विसर्जन से शरीर का सारा टोक्सिन निकल जाए। इससे गुर्दा यानी किडनी दुरुस्त रहेगी।
सप्ताह में प्रत्येक शनिवार को पूरे शरीर की मालिश करें, ताकि अस्थि या हड्डी मजबूत बानी रहें और ग्रन्थिशोथ अर्थात थायराइड से बचाव रहे।
खाने के तुरंत बाद पेशाब जरूर करें।
रात्रि में फल, जूस, सलाद, दही, अरहर की दाल का परित्याग करें।
रात को सोते समय Brainkey Gold Malt एक चम्मच दूध के साथ लेवें।
सिर दर्द होने पर गहरी गहरी श्वांस नाभि तक ले जाकर कुछ देर रोकें फिर छोड़ें।
शरीर में दर्द होने पर बादाम, जैतून, चन्दनादी युक्त Kayakey तेल से मालिश करें।
अगर कोई लम्बे समय से बीमार है, तो रविवार के दिन 11.42 से 12.31 के बीच अपने वजन का अन्न आफ जानवरों को खिलाएं। इसमें गधे, घोड़े, नंदी, गाय, श्वान आदि सब सम्मिलित हों।
यदि घर में कोई , जादूगर या वास्तु आदि का दोष हो, तो घर के पशिचम दक्षिण के कोने में मिट्टी के पात्र में 100 ग्राम Madhu Panchamrut भरकर रखें और एक दीपक देशी घी का जलाएं। 7 दिन बाद पुनः इस ही करें।
किसी ने तंत्र, टोटका किया हो या व्यापार को बांध दिया हो, तो सफेद धागे में बीच में एक हल्दी की गांठ ओर दोनों तरफ 12/12 लौंग की माला बनाकर गुरुवार को घर के सभी मुझी दरवाजे पर लटकाएं ओर हर गुरु वर को बदल दें।
धन नहीं रुकता हो, तो शनिवार को शाम सूर्यास्त के समय 5 ग्राम नागकेशर, चांदी का सिक्का, सोने का टुकड़ा ओर कुछ रुपये सफेद वस्त्र में लपेटकर घर के मंदिर में रखें और रोज 5 सफेद फूल अर्पित कर एक दीपक जलाएं।
कोर्ट कानून की उलझन हो, तो काले तिल, उडद दाल, लोंग, लोहे के पात्र में भरकर किसी एकांत स्थान पर दबाएं ओर वहां एक दीपक Raahukey oil का जलाएं। काम होने के बाद उसे निकालकर किसी को डौन करें और 21 किलो गुड़ चना घोड़े या हाथी को ख़िलाएं।
108 केले किसी हनुमान मंदिर में नैवेद्य के रूप में अर्पित कर दूसरे दिन बंदरों को खिलाएं।
जमीन का विवाद नहीं निपट रहा हो, तो मंगलवार को सुबह 8.34 से 10.41 गुड़ 5 किलो में समुद्री नमक 25 ग्राम, नागकेशर 10 ग्राम और 20 ग्राम कालीमिर्च शरबत बनाकर सांढ़ को पिलाएं ऐसा 9 मंगलवार करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.